संतोष चक द्वारा निर्मित “फर्क तो पड़ता है” शिक्षाप्रद शॉर्ट फ़िल्म।

संतोष चक जाने माने फ़िल्म प्रोड्यूसर हैं। जो बॉलीवुड से लेकर हॉलीवुड समेत कई फिल्में बना चुके हैं।

तेवर फ़िल्म , निल बट्टे सन्नाटा , विमल केशरी एड , मिलियन डॉलर आर्म्स हॉलीवुड , विक्टोरिया एंड अब्दुल हॉलीबुड , टॉयलेट – एक प्रेम कथा, दम लगा के अहीसा , नादान इश्क़ बा भोजपुरी अभी रिलीज नही हुई हैं।

कन्या शिक्षा को बढ़ावा देने के लिए उनके द्वारा बनाई गई “फर्क तो पड़ता है” एक शार्ट फ़िल्म है जिसमें विद्यार्थी का किरदार निभाया है 6 साल की गरिमा सिंह चक ने और पिता का रोल लाखन सिंह चक ने बखूबी निभाया है।

निर्माण: कथूरिया फ़िल्म प्रोड्यूस
डायरेक्टर- सोनिया पाल
स्क्रिप्ट और प्रोड्यूसर : Amit Kathuria
Line Producer – Santosh Chak –
Artist – लाखन सिंह चक
चाइल्ड आर्टिस्ट: गरिमा सिंह चक।

खटीक महासंघ से वार्ता के दौरान संतोष चक जी ने बताया कि लाखनसिंह चक भैया ने पहली बार ही इस तरह का अभिनय किया हैं मैं (संतोष चक) बहुत सी फिल्मे बनवा चुका हूँ जिनमें हॉलीवुड, बॉलीवुड और भोजपुरी फिल्में शामिल हैं। छोटी छोटी शिक्षाप्रद कहानियां जिन्हें हम शार्ट फ़िल्म भी बनाई हैं।

उन्होंने आगे कहा : अचानक ही हमारे मित्र बड़े भाई Amit Kathuria जी का फोन आया कि एक शार्ट फ़िल्म बनानी हैं जिसके लिए एक लड़की लगभग 6- 7 वर्ष की और उनके पिता रिक्सा चालक की जरूरत हैं मैंने तुरंत भैया को फोन किया फ़ोटो मंगाए लोकेशन देखी और अगले दिन शूट करवा दिया।
और भी सामाजिक चेतनाओं को लेकर शार्ट फ़िल्म बनाई हैं और आगे भी बनाते रहेंगे

संतोष चक द्वारा निर्मित “फर्क तो पड़ता है” शिक्षाप्रद शॉर्ट फ़िल्म।
5 (100%) 5 votes

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *